Sansar News- Online for Global Nepali

कविता : मेरी बेटी के पैदा होने का साल

संसार न्यूज़
१ वर्ष पहिले
कविता : मेरी बेटी के पैदा होने का साल

आज जिस लड़की से
फोन पर मेरी बातें हुईं
बिल्कुल मेरी बेटी जैसी थी
उतनी ही होती उम्र मेरी बेटी की भी
लगभग उसी वक्त उसे पैदा होना था
पर ये सारा किस्सा एक अजब तूफान का है
जिसने रोक दी सृष्टि की गति
जिसने की ऐसी वृष्टि
कि असंभव हो गया
कहीं भी बसना
जिÞन्दगी दहती रही जैसे बाँस के बने फट्ठे पर
बहती रही जाने किन बारिशों की नावों में
और मेरी बेटी जिसे लगभग
उसी वक्त पैदा होना था
खोई रही जाने किन बदलियों
बिजलियों में
चमकती रही बनकर सूरज की रौशनी
मेरे बेहद उदास दिनों पर
मेरे गीले हो गए अंतर पर
भींग गए मन आँगन पर
दमकती रही वह बनकर मेरे अक्षरों की आवाज
धुन भी उनकी, उनकी चमक
मेरी बेटी
जिसका नाम मैंने बदला
इस बीच हजारौं बार
उसकी आवाज हर उस बच्चे की आवाज बनकर
आती रही
जो पैदा हुआ था उस साल
जिस साल मेरी बेटी को भी पैदा होना था
लेकिन, जिस साल
मेरे प्रेमी ने शुरू की थी
भयानक राजनीती….

पंखुरी सिन्हा Phase 3,
वी सी लेन, क्लब रोड,
मुजफ्फरपुर बिहार

सर्बाधिक पढिएको

नेपाली सेनाले माग्यो सिभिल कर्मचारी

नेपाली सेनाले माग्यो सिभिल कर्मचारी ७ दिन पहिले | संसार न्यूज़

११ मंसिर, काठमाडौं । नेपाली सेनाले करार सेवामा जनशक्तिको माग…

ठूलो संख्यामा लोक सेवाको विज्ञापन ( हेर्नुस् यो सूचना)

ठूलो संख्यामा लोक सेवाको विज्ञापन ( हेर्नुस् यो सूचना) १ हप्ता पहिले | संसार न्यूज़

८ मंसिर, काठमाडौँ । बागमती प्रदेश लोक सेवाले ठुलो सङ्ख्यामा…

यसरी गरे पूर्वसभामुख महराले पत्नीको अन्तिम विदाई (तस्बिरसहित)

यसरी गरे पूर्वसभामुख महराले पत्नीको अन्तिम विदाई (तस्बिरसहित) ४ हप्ता पहिले | संसार न्यूज़

१९ कात्तिक, काठमाडौं ।  पूर्वसभामुख कृष्णबहादुर महराले उपचारका क्रममा मृत्यु…

सेनाका पाँच प्रमुख सेनानीहरु महासेनानीमा बढुवा

सेनाका पाँच प्रमुख सेनानीहरु महासेनानीमा बढुवा ३ हप्ता पहिले | संसार न्यूज़

२७ कार्तिक, काठमाडौँ । नेपाली सेनाका पाँच प्रमुख सेनानीहरु महासेनानीमा…